MBBS Full Form in hindi | एमबीबीएस कैसे बने, एमबीबीएस का Full Form क्या होता है।

जब कभी आप डॉक्टर के clinic गए होंगे तो आपने वहां पर डॉक्टर की नेम प्लेट में डॉक्टर के नाम के नीचे MBBS लिखा देखा होगा आखिरकार इस MBBS का मतलब होता क्या है आज हम आपको बताएंगे भारतवर्ष में कई ऐसे इंस्टिट्यूट है जो एमबीबीएस कराते हैं जिनमें कुछ सरकारी है और कुछ प्राइवेट इंस्टिट्यूट है जो MBBS करवाते हैं ज्यादातर भारत के मूलनिवासी भारत में ही इस कोर्स को करते हैं और कुछ लोग विदेशों में जाकर भी इसकी पढ़ाई कंप्लीट करते हैं एमबीबीएस अपने आप में चिकित्सा विभाग की एक बहुत बड़ी डिग्री होती है जिसे पाने के बाद आप अब एक हॉस्पिटल में एमबीबीएस डॉक्टर या फिजिशियन डॉक्टर लग सकते हैं या आप अपना एक प्राइवेट क्लीनिक भी खोल सकते हैं

Full Form MBBS

एमबीबीएस का फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी इस डिग्री को पाने के बाद कोई भी व्यक्ति अपना पर्सनल क्लीनिक खोल सकता है इस डिग्री को प्राप्त करके जो डॉक्टर बनते हैं वह मरीजों का इलाज दवाइयों के द्वारा करते हैं उसके लिए यह पहले मरीजों की सभी जांचे करवा लेते हैं और उन जांच के आधार पर उस व्यक्ति को दवाइयां prescribe करते हैं यह डॉक्टर सर्जरी नहीं करते केवल दवाइयों के द्वारा ही मरीज का इलाज करते हैं

MBBS कैसे करें

MBBS की डिग्री पाने के लिए हमें अपनी 12वीं कक्षा में बायोलॉजी का सब्जेक्ट लेना अनिवार्य है अतः हम यह डिग्री नहीं ले सकते हैं एमबीबीएस का कोर्स साढे 4 साल का होता है जिसमें हमें 1 साल की इंटर्नशिप करना अनिवार्य होता है जो कि कॉलेज के द्वारा करवाई जाती है अतः कॉलेज द्वारा कराई गई इंटर्नशिप और साडे 4 साल मिलाकर साडे 5 साल में हम इस डिग्री को हासिल करते हैं इस डिग्री को करने के बाद हम किसी भी हॉस्पिटल को ज्वाइन कर सकते हैं या अपना Private Clinic भी खोल सकते हैं टोटल 9 सेमेस्टर में यह पूरा कोर्स समाप्त होता है.

और कोर्स के अंतिम चरण में हमें अपना स्पेशलाइज्ड सब्जेक्ट चुनना होता है जैसे उदाहरण के तौर पर कुछ डॉक्टर होते हैं जो डायबिटीज के पेशेंट को देखते हैं कुछ डॉक्टर होते हैं जो पेट से संबंधित बीमारियों का इलाज करते हैं और कुछ डॉक्टर होते हैं जो न्यूरो हड्डियां या इस प्रकार से अनेक विषयों पर अपना स्पेशलाइजेशन करते हैं course के अंत में हमें अपने एक स्पेशलाइज्ड सब्जेक्ट पर work करना होता है physician doctor जरूरी ही नहीं है कि केवल एक ही विषय का डॉक्टर बने वह मल्टीपल बीमारियों का भी इलाज कर सकता है जैसे एक डायबिटीज का डॉक्टर पेट की बीमारियों का भी इलाज कर देता है इस प्रकार से इनके कई पूर्व लिखित Courses होते हैं जिनमें यह मल्टीपल सब्जेक्ट को भी चुन सकते हैं


MBBS करने खर्चा कितना होता है।

एमबीबीएस (mbbs) चिकित्सा विज्ञान की एक बहुत महत्वपूर्ण डिग्री है और इनका होना एक देश के लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि डॉक्टर के बिना कोई भी देश स्वस्थ नहीं रह सकता फिलहाल हमारे भारतवर्ष के डॉक्टर पूरे दुनिया में बहुत प्रसिद्ध है अगर हम कोर्स की बात करें तो भारत में एमबीबीएस कराने वाले कई सरकारी और कई प्राइवेट कॉलेज है।

प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग 40 से 50 लाख रुपए साडे 4 साल के होते हैं और सरकारी कॉलेज में इस फीस पर अच्छी छूट दी जाती है कई ऐसे लोग जो विदेशों में जाकर इस डिग्री को लेते हैं उनके फीस स्ट्रक्चर करोड़ों पर भी जाता है वैसे दुनिया में यूक्रेन मात्र एक ऐसा देश है जहां दुनिया भर से लोग एमबीबीएस करने के लिए जाते हैं उसका उसके पीछे का कारण यह है क्योंकि यहां पर मेडिकल की फीस बहुत ही कम है इस वजह से पूरे वर्ल्ड में सबसे ज्यादा एमबीबीएस डॉक्टर यूक्रेन से ही पास आउट होते हैं। तो अब next time जब आप डॉक्टर के पास जायेंगे तब आपको एमबीबीएस का पूरा मतलब पता होगा।

इसे भी पढ़े :

BBA Full Form in hindi | बीबीए फुल फॉर्म क्या है, BBA कैसे करें?

HIV Full form in Hindi | HIV क्या है, और इसका full form क्या होता है।

Leave a Comment