Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022 : सूखा पड़ने पर मिलेगा किसानों को मुआवजा राशि

Jharkhand Rajy Fasal Rahat Yojana 2022 | झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना 2022 | Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022 | Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022 Online | झारखण्ड फसल राहत योजना | Jharkhand Fasal Rahat Yojana Scheme 2022

Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022: झारखण्ड सरकार अपने राज्य के सभी किसानों के हितों का ख्याल करते हुए समय-समय पर कई प्रकार के महत्वकांक्षी योजनाएं चलाते रहती हैं जिससे की झारखण्ड के किसानों को फायदा मिल सके। और इसी कड़ी में उन्होंने झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना की शुरुआत किए हैं जिसके तहत राज्य के सभी किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल नुकसान होने पर आर्थिक मुआवजा राशि दिया जाता है, और इसके लीए किसानों को कोई भी बीमा प्रीमियम राशि की भुगतान करने की आवश्यकता नही होता है। और इस योजना के तहत दी जाने वाले मुआवजा राशि को सरकार द्वारा dbt के माध्यम से किसानों के खाते में पैसा भेजा जाता है।

तो ऐसे मे अगर आप भी झारखण्ड राज्य के किसान हैं और ऐसे इलाके में किसानी करते हैं जहां प्राकृतिक आपदाओं का प्रकोप ज्यादा रहता है तो ऐसे में आप झारखण्ड सरकार के Jharkhand Rajy Fasal Rahat Yojana का लाभ उठा करके सरकार से अपनी फसलों का प्राकृतिक आपदाओं के कारण नुकसान होने पर आर्थिक मुआवजा राशि dbt के माध्यम से अपने बैंक खाते मे प्राप्त कर सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं झारखण्ड सरकार द्वारा चलाया गया झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना (Jharkhand Fasal Rahat Yojana) के पंजीकरण प्रक्रिया, दस्तावेज, मुआवजा राशि, उदेश्य और योग्यता के बारे में।

Jharkhand Fasal Rahat Yojana क्या है, और इसके लाभ

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना (Jharkhand Fasal Rahat Yojana) झारखण्ड सरकार के द्वारा चलाया गया एक ऐसी योजना है जिसके माध्यम से राज्य के सभी किसानों को जो इसके तहत पंजीकृत होते हैं, उन्हें उनके फसलों के प्राकृतिक आपदाओं जैसे कि ओला, बाढ़, सूखा इत्यादि से नुकसान होने पर सरकार द्वारा उन्हें आर्थिक मुआवजा राशि प्रदान किया जाता है।
और इस आर्थिक मुआवजा राशि को प्रति एकड़ कितना प्राकृतिक आपदा के कारण फसलों का नुकसान हुआ है उसके हिसाब से दिया जाता है, और इसके लिए उन सभी किसानों को कोई भी प्रीमियम राशि जमा करने की आवश्यकता नहीं होता है केवल उन्हें इस योजना के तहत एक पंजीकरण कराना होता है।

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना के अंतर्गत मिलने वाला लाभ

झारखंड सरकार द्वारा शुरू किए गए झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) के तहत राज्य के सभी किसानों को नीचे दिए गए निम्नलिखित प्रकार के लाभ दिए जाते हैं।

Jharkhand Fasal Rahat Yojana benifits 2022

  • इस योजना के तहत जब किसी किसान के फसलों का नुकसान प्राकृतिक प्रकोप के कारण होता है तो उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक मुआवजा राशि प्रति हेक्टेयर के हिसाब से दिया जाता है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए कोई भी बीमा प्रीमियम राशि किसानों को जमा करने की आवश्यकता नहीं होता है केवल उन्हें इस योजना के तहत पंजीकरण कराने की आवश्यकता होता है।
  • और झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना का लाभ कोई भी झारखंड राज्य के मूल निवासी किसान उठा सकता है।
  • और इस योजना के माध्यम से दी जाने वाली आर्थिक मुआवजा राशि को सरकार द्वारा डायरेक्ट dbt के माध्यम से किसानों के खाते में भेजा जाता है, उनको पैसे लेने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय या दफ्तर में जाने की जरूरत नहीं होता है।

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना (Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022) से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

योजना का नामझारखण्ड राज्य फसल राहत योजना
सरकारझारखण्ड सरकार द्वारा
लाभार्थीझारखण्ड के सभी गरीब और सीमांत किसान
मुख्य उद्देश्यझारखण्ड के सभी गरीब और सीमांत किसानो को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल नुकसान होने पर आर्थिक मुआवजा देना
झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना दस्तावेजकिसान का आधार कार्ड
किसान का राशन कार्ड/बीपीएल कार्ड
किसान का निवास प्रमाण पत्र
आय प्रमाण पत्र
बैंक पासबुक फोटोकॉपी
खेत की जानकारी (खाता नंबर/खसरा नंबर)
पासपोर्ट साइज फोटो
फोन नंबर और ईमेल
ऑफिसियल पोर्टलhttps://jrfry.jharkhand.gov.in/

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना के मुख्य उदेश्य

झारखंड सरकार द्वारा झारखंड राज्य फसल राहत योजना को शुरू करने के पीछे का मुख्य उद्देश्य झारखंड के सभी किसानों को प्राकृतिक प्रकोप के कारण उनके फसलों के नुकसान होने पर आर्थिक मुआवजा राशि प्रदान करने के उद्देश्य से किया गया है जिससे की उन किसानों को ज्यादा नुकसान का सामना करना नहीं पड़े।

क्योंकि जैसा की आप भी जानते हैं की एक किसान के लिए उसका फसल ही जीवन होता है तो ऐसे में जब किसी किसान का फसल नुकसान हो जाता है तो उसे आगे की जिंदगी में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और इसी चीज को ध्यान में रखते हुए झारखंड सरकार ने झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) की शुरुआत किए हैं।

झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) की प्रमुख विशेषताएं

  • अगर झारखंड सरकार द्वारा शुरू किए गए राज्य फसल राहत योजना की कुछ प्रमुख विशेषताओं के बारे में बात करें तो इस योजना की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसके तहत बाढ़ ओलावृष्टि और सूखा तीनों स्थिति के कारण फसलों का नुकसान होने पर सरकार द्वारा आर्थिक मुआवजा राशि दिया जाता है।
  • और इस मुआवजा राशि को प्राप्त करने के लिए किसान को केवल एक पंजीकरण कराने की आवश्यकता होता है उसे कोई भी बीमा प्रीमियम राशि जमा करना नहीं होता है।
  • और इस झारखंड राज्य फसल राहत योजना के माध्यम से दी जाने वाली आर्थिक मुआवजा राशि को लेने के लिए किसी भी किसान को कोई भी सरकारी कार्यालय में जाना नहीं होता है।
  • और इस योजना का लाभ झारखंड राज्य का कोई भी किसान चाहे वह छोटा हो या बड़ा कोई भी किसान इस योजना का लाभ उठाकर के प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान होने पर सरकार से आर्थिक मुआवजा राशि प्राप्त कर सकता है।

झारखंड राज्य फसल राहत योजना का लाभ किन किसानों को नहीं दिया जाएगा

  • झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना (Jharkhand Fasal Rahat Yojana) का लाभ नीचे दिए गए निम्नलिखित किसानों को लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • अगर किसी किसान के पास अपना खेती योग्य जमीन नहीं है और वह किसी दूसरे के जमीन में “बट्यादारी” से किसानी करता है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • अगर कोई किसान झारखंड राज्य का मूल निवासी नहीं है और वह फिर भी किसानी करके झारखंड राज्य में जीवन यापन करता है तो वैसे किसानों को भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • अगर कोई जमींदार अपने खेत में किसानी करवाता है और वह इस योजना का लाभ उठाकर के आर्थिक मुआवजा राशि प्राप्त करना चाहता है तो उसे भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • अगर किसी किसान के पास पहले से कोई अन्य सरकारी नौकरी या गैर सरकारी नौकरी उपलब्ध है और वह फिर भी किसानी करता है या करवाता है तो उन किसानों को भी इस योजना के तहत कोई भी मुआवजा राशि सरकार द्वारा नहीं दिया जाएगा।

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना योग्यता/पात्रता

अगर आप भी झारखंड राज्य फसल राहत योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए सरकार ने कुछ पात्रता मापदंडो को तय किए है उसको पूरी करने की आवश्यकता होता है।

Jharkhand Fasal Rahat Yojana Eligibility Criteria 2022

  • झारखंड राज्य फसल राहत योजना का लाभ केवल झारखंड राज्य के मूल निवासी किसानों को ही दिया जाएगा, और इसके लिए उनके पास निवास प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  • अगर कोई व्यक्ति झारखंड राज्य में जमीन खरीद करके पिछले 20 वर्षों से अधिक समय से रह रहा है और अपनी जीवन यापन किसानी से कर रहा है तो उन किसानों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • और इसके अलावा इस Jharkhand Fasal Rahat Yojana का लाभ झारखंड का कोई भी छोटा और सीमांत किसान उठा सकता है।
  • अगर कोई किसान किसी अन्य की खेती में किसानी करता है तो उस किसान को इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा लेकिन वह किसान अपने मालिक से कह करके इस योजना का लाभ अपने उस खेत के मालिक के माध्यम से प्राप्त कर सकता है।

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना के लिए दस्तावेज

अगर आप भी झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास नीचे दिए गए निम्नलिखित प्रकार के दस्तावेजों का होना आवश्यक होता है।

Jharkhand Fasal Rahat Yojana documents 2022

  • आवेदक किसान का आधार कार्ड
  • आवेदक किसान का राशन कार्ड/बीपीएल कार्ड
  • आवेदक किसान का निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता की जानकारी (बैंक पासबुक फोटोकॉपी)
  • खेत की जानकारी जैसे की खाता नंबर/खसरा नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • फोन नंबर और ईमेल

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना के लिए आवेदन/पंजीकरण कैसे करें?

झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) के लिए आवेदन या पंजीकरण आप निचे दिए गैप प्रक्रिया को फॉलो करके आसानी से कर सकते हैं।

Jharkhand Fasal Rahat Yojana registration process in Hindi

  • अगर आप भी झारखंड सरकार द्वारा शुरू किए गए झारखंड राज्य फसल राहत योजना के तहत पंजीकरण कराना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले इस योजना के अधिकारिक वेबसाइट “https://jrfry.jharkhand.gov.in/” पर जाना है।
Jharkhand Fasal Rahat Yojana registration
  • उसके बाद होम पेज पर हीं आपको दो विकल्प ” किसान लॉग इन करें और किसान पंजीकरण करे” दिखाई देगा, उसमें से ” किसान पंजीकरण करे” वाले विकल्प का चयन करना है।
Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022
  • उसके बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमे आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करना होता है, और साथ मे निचे दिए हुए घोसणा वाले ऑप्शन पर टिक करना होता है।
Jharkhand Fasal Rahat Yojana registration form
  • जैसे ही आप ऊपर दिए गए प्रक्रिया को फॉलो कर लेते हैं तो आपका इस योजना के तहत पंजीकरण प्रक्रिया पूरा हो जाता है।
  • उसके बाद आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया को पूरी करने के लिए आपको पुनः वेबसाइट पर आना होता है और लॉगइन करना होता है।
  • और जब आप लोग इन कर लेते हैं तो आपके सामने Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022 form खुल करके आता है जिसमें मांगी गई सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़कर भरना होता है। और फिर सबमिट कर देना होता है।

झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) के ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया को पूरी करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में जाने की आवश्यकता होता है।

और उसके बाद वहां उपलब्ध अधिकारीयों को आपको इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए कहना होता है और फिर आपको वहां इस योजना से जुड़ी सभी दस्तावेजों को जैसे कि बैंक खाता संख्या खेत की जानकारी इत्यादि कागजातों को जमा करना होता है।

और उसके बाद कुछ मामूली सी फीस जमा करके आप इस योजना के तहत पंजीकरण करवा सकते हैं।

नोट: आप चाहे तो इस योजना के लिए अपने नजदीकी पंचायत कार्यालय या ब्लॉक इत्यादि में भी जाकर के भी इस झारखंड राज्य फसल राहत योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े :

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का लाभ कैसे लें।

झारखंड विधवा पेंशन योजना का लाभ कैसे लें।


Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2022 FAQ?

तो चलिए जानते हैं झारखंड राज्य फसल राहत योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर के बारे में जिसको की जानना किसानों के लिए आवश्यक होता है।

Q.झारखंड राज्य फसल राहत योजना की शुरुआत कब हुआ है?

Ans: झारखंड सरकार द्वारा झारखंड राज्य फसल सहायता योजना की शुरुआत साल 2020 में किया गया है।

Q.झारखंड राज्य फसल राहत योजना क्या है?

Ans: झारखंड राज्य फसल राहत योजना (Fasal Rahat Yojana Jharkhand) के माध्यम से झारखंड के सभी किसानों को प्राकृतिक प्रकोप के कारण फसलों के नुकसान होने पर आर्थिक मुआवजा राशि दिया जाता है।

Q.झारखंड राज्य फसल राहत योजना का लाभ किन किसनो को मिलता है?

Ans: इस योजना का लाभ झारखंड का कोई भी मूल निवासी किसान छोटा और सीमांत किसान उठा सकता है।

Q.झारखंड राज्य फसल राहत योजना के बहुत कितना मुआवजा राशि दिया जाता है?

Ans: इस योजना के माध्यम से किसानों को प्रति हेक्टेयर उनके फसलों के नुकसान के हिसाब से मुआवजा राशि सरकार द्वारा दिया जाता है।

निष्कर्ष –

आज के इस लेख में हमलोगो ने आपको झारखंड सरकार द्वारा चलाए जा रहे हैं झारखंड राज्य फसल राहत योजना के बारे में बताया है और इस लेख में हमने आपको इस योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी जैसे कि पंजीकरण करने की प्रक्रिया, योग्यता, दस्तावेज और मुआवजा राशि राशि के बारे में जानकारी दिया है।

तो ऐसे में हमें उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको झारखंड राज्य के इस योजना के बारे में सभी प्रकार की जानकारी मिल गया होगा बाकी ऐसे ही झारखंड सरकार द्वारा चलाए जा रहे अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए झारखंड सरकारी योजना (Jharkhand Sarkari Yojana 2022) सेक्शन को जरूर देखें। धन्यवाद 🙏🙏

Leave a Comment