B.Ed Full Form in Hindi | बी.एड क्या है, और B.Ed Course कैसे करें।

B.Ed Full Form | बी.एड फुल फॉर्म | B.Ed Full Form in hindi | Full Form of B.Ed | B.Ed Kya Hai | बी.एड कोर्स कैसे करें | B.Ed Course Kaise Karen

B.Ed Full Form: बहुत से ऐसे छात्र-छात्राएं होते हैं जो अपने करियर मे एक शिक्षक बनना चाहते हैं और इसके लिए उन्हें सबसे पहले किसी की मान्यता प्राप्त कॉलेज से बी.एड कोर्स करना होता है लेकिन बहुत से ऐसे छात्र-छात्राएं भी हैं जिन्हें अपनी तक बी.एड फुल फॉर्म (B.Ed Full Form) क्या होता है और b.ed कोर्स कैसे करते हैं इसके बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है।

तो ऐसे मे अगर आपको भी B.Ed के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है और आप बी.एड फुल फॉर्म से लेकर B.Ed कोर्स करने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानना चाहते हैं तो आप हिंदी वर्ल्ड के इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ सकते हैं और बी.एड कोर्स से संबंधित सही प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं तो चलिए विस्तार पूर्वक बी.एड कोर्स के बारे में जानते हैं।

B.Ed फुल फॉर्म क्या होता है – B.Ed Full Form in hindi

B.Ed के फुल फॉर्म हिंदी भाषा मे बैचलर ऑफ एजुकेशन होता है जबकि B.Ed के Full Form अंग्रेजी भाषा मे Bachelor of Education होता है, और यह एक प्रकार की Undergraduate शैक्षणिक डिग्री कोर्स है जिसको खासतौर पर उन छात्रों द्वारा किया जाता है जो आगे भविष्य में शिक्षक बनना चाहते हैं। और बी.एड कोर्स किसी भी छात्र छात्राओं के लिए स्कूल के शिक्षक बनने के लिए बहुत जरूरी एवं compulsory होता है।

B.Ed Stands For: Bachelor of Education

B Bachelor

Ed of Education

बी.एड क्या है? और B.Ed Course kaise karen

बी.एड भी एक प्रकार की Undergraduate शैक्षणिक डिग्री कोर्स है जिसे किसी भी छात्र छात्राओं द्वारा किसी भी विषय में 50% अंको के साथ ग्रेजुएशन पास करने के बाद किया जाता है, और यह कोर्स भी 2 सालों का होता है। एवं यह शैक्षणिक कोर्स को खासतौर पर उन छात्र-छात्राओं द्वारा किया जाता है जो आगे भविष्य में चलकर शिक्षक बनना चाहते हैं।

और जो अभ्यार्थी बी.एड कोर्स पास कर लेता है वह इंटरमीडिएट तक के स्कूलों के शिक्षक बनने के योग्य हो जाता है, और वह आगे भविष्य में शिक्षक भर्ती के आवेदन फॉर्म को भर करके एक शिक्षक बन सकता है।

बी.एड कोर्स (B.Ed Course) करने के प्रमुख फायदे

जब आप किसी की मान्यता प्राप्त सरकारी या गैर सरकारी कॉलेज से B.Ed कोर्स पूरी कर लेते हैं तो आप शिक्षक बनने के योग्य हो जाते हैं।

इस कोर्स को करने के बाद अगर आपका सरकारी शिक्षक नौकरी नहीं लगता है तो आप किसी भी गैर सरकारी शिक्षण संस्थान में जाकर आसानी से शिक्षक की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

BEd Course की प्रमुख विशेषतायें

  • बी.एड कोर्स के सबसे बड़े प्रमुख विशेषता यह है कि जो छात्र-छात्राएं इस कोर्स को कर लेते हैं वह इंटरमीडिएट तक के स्कूलों के शिक्षक बनने के लायक हो जाते हैं।
  • बी.एड कोर्स किए बिना आप कभी भी शैक्षणिक क्षेत्र में अपने कैरियर नहीं बना सकते हैं, और नहीं कभी शिक्षक बन सकते हैं।
  • B.Ed कोर्स करने के बाद ही आप किसी भी राज्य के शिक्षक के आवेदन फॉर्म को भर पाएंगे, और शिक्षक बन पाएंगे।
  • बी.एड कोर्स को आप किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में 50% अंकों के साथ ग्रेजुएशन पास करने के बाद कर सकते हैं।
  • अगर किसी भी सरकारी कॉलेज से आप बी.एड कोर्स करते हैं तो आप इस कोर्स को केवल 30 हज़ार से ₹40 हज़ार में पूरी कर सकते हैं।
  • बी.एड कोर्स को आप गवर्नमेंट और प्राइवेट मान्यता प्राप्त कॉलेजों से पूरी कर सकते हैं।
  • इस कोर्स को आप 20 वर्ष की उम्र से लेकर 40 वर्ष की उम्र तक के बीच में कर सकते हैं।

B.Ed Course नहीं करने नुकसान

B.Ed कोर्स नहीं करने का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि आप कभी भी एक शिक्षक के तौर पर अपनी करियर नहीं बना सकते हैं और ना ही आप शिक्षक के आवेदन फॉर्म को भर सकते हैं।

एक सरकारी शिक्षण संस्थान में सरकारी शिक्षक बनने के लिए आपका बी.एड कोर्स करना अनिवार्य होता है अगर आप बी.एड कोर्स नहीं करते हैं तो आप कभी भी इंटरमीडिएट तक के स्कूलों के शिक्षक नहीं बन सकते हैं।

बी.एड कोर्स करने के लिए योग्यता मापदंड

B.Ed कोर्स करने के लिए सबसे पहले आपका किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन यानि की BA (बैचलर ऑफ़ आर्ट्स), B.Sc (बैचलर ऑफ़ साइंस) या B.Com (बैचलर ऑफ़ कॉमर्स) कोर्स को 50% अंकों के साथ पास करना अनिवार्य होता है।

बी.एड कोर्स करने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से कम और 40 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए।

बी.एड कोर्स कैसे करें (B.Ed Course kaise karen)

अगर आप भी ग्रेजुएशन बात करने के बाद B.Ed कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे दिए हुए प्रक्रिया को फॉलो करने की जरूरत है।

B.Ed Course kaise karen

  • B.Ed कोर्स करने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन 50% अंकों के साथ पास करना होगा।
  • उसके बाद जब आप किसी भी विषय में ग्रेजुएशन अच्छे अंकों के साथ पास कर लेते हैं तो B.Ed कॉलेज में दाखिला लेने के लिए सबसे पहले आपको बीएड एग्जामिनेशन फॉर्म (B.Ed Examination Form) भरना होता है।
  • और बी.एड पंजीकरण फॉर्म प्रत्येक राज्यों द्वारा बी.एड कॉलेजों में दाखिला देने के लिए निकाला जाता है। जिसका notification आपको अख़बार में पढ़ने को मिल जाएगा।
  • और फिर आपको बी.एड के कॉलेज मे दाखिला लेने के लिए इस एग्जाम को अच्छे अंकों के साथ पास करना होता है उसके बाद आपको आपके अंकों के आधार पर सरकारी और गैर सरकारी कॉलेजों में दाखिला दिया जाता है।

ध्यान देने योग्य बात: सबसे जरूरी ध्यान देने योग्य बात यह है कि जब आप बीएड दाखिला एग्जाम को अच्छे अंको से पास करते हैं तो आपको सरकारी कॉलेजों में दाखिला मिलता है जिससे कि आपका बीएड कोर्स करने में बहुत ही कम खर्च आता है। वहीं अगर आप गैर सरकारी कॉलेजों से B.Ed कोर्स करते हैं तो आपका डेढ़ लाख रुपए से लेकर ₹2 लाख तक खर्च हो जाता है।

बी.एड प्रवेश परीक्षा की सूची

पूरे भारत के कॉलेजों में बी.एड कोर्स में छात्रों की दाखिला के लिए, अधिकांश विश्वविद्यालय और शैक्षणिक संगठनो द्वारा अभ्यार्थियों के प्रदर्शन का आकलन करने में मदद करने के लिए बी.एड प्रवेश परीक्षा (B. Ed Exam) आयोजित करते हैं। कुछ ऐसे हीं राज्यों के लिस्ट नीचे दी गई है, जो बी.एड मे प्रवेश के लिए परीक्षाएँ आयोजित करती है।

  • झारखण्ड बी.एड प्रवेश परीक्षा (Jharkhand B. Ed Entrance Exam)
  • हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय बी.एड प्रवेश परीक्षा ( Himachal Pradesh Bed Entrance exam)
  • आंध्र प्रदेश एजुकेशन कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
  • छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल
  • इलाहाबाद विश्वविद्यालय बी.एड प्रवेश परीक्षा ( Allahabad University B.Ed entrance exam)
  • जम्मू और कश्मीर बोर्ड
  • उत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा

बी.एड पाठ्यक्रम ( B.Ed courses)

बी.एड कोर्स को पूरी करने के लिए छात्रों को विभिन्न प्रकार के bed courses के विकल्प प्रदान किए जाते हैं। जिनकी जानकारी नीचे दिया गया है।

  • विज्ञान में बी.एड.
  • गणित में बी.एड
  • राजनीती विषय में बी.एड
  • अर्थशास्त्र में बी.एड
  • अंग्रेजी विषय में बी.एड
  • कंप्यूटर विषय में बी.एड
  • सामाजिक विज्ञान में बी.एड
  • संस्कृत विषय में बी.एड
  • सूचना प्रौद्योगिकी में बी.एड
  • भूगोल में बी.एड
  • गृह विज्ञान में बी.एड

बीएड कोर्स के बाद नौकरी का मौका

जब आप किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से B.Ed कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो आपको नीचे दिए हुए निम्नलिखित प्रकार के नौकरी के मौके मिलते हैं।

  • शिक्षक
  • कॉलेज के प्रोफेसर
  • इंटरमीडिएट तक के स्कूल के शिक्षक
  • कंटेंट लेखक
  • ऑनलाइन ट्यूटर
  • गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों में शिक्षक की नौकरी
  • पुस्तकालय में नौकरी

B.ED Course FAQ?

तो चलिए अब बी.एड कोर्स से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर के बारे में जान लेते हैं जिनके बारे में लोगों को अक्सर जानने की इच्छा होता है।

Q. B.Ed कोर्स क्यों किया जाता है?

Ans: अगर आप इंटरमीडिएट तक के स्कूलों के शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपका बी.एड कोर्स करना अनिवार्य होता है और लोग शिक्षक बनने के लिए बी.एड कोर्स को करते हैं।

Q. B.Ed course Fees कितना है?

Ans: अगर आप सरकारी कॉलेज से B.Ed कोर्स करते हैं तो आपका 20 हज़ार से लेकर ₹30 हज़ार में कोर्स पूरा हो जाता है जबकि आप गैर सरकारी कॉलेज से B.Ed कोर्स करते हैं तो डेढ़ लाख रुपए से लेकर ₹2 लाख तक खर्च हो जाता है।

Q. B Ed कौन सी डिग्री है?

Ans: बी.एड एक प्रकार के Undergraduate degree होता है जिसको किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पास करने के बाद छात्रों द्वारा किया जाता है।

Q. बीएड कितने वर्ष का होता है?

Ans: बी.एड कोर्स कुल 2 वर्षों का अंडरग्रैजुएट कोर्स होता है जिसे आप किसी की मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास करने के बाद कर सकते हैं।

Q. B Ed करने से क्या फायदा होता है?

Ans: बी.एड कोर्स करने के सबसे बड़ा प्रमुख फायदा यह है कि इस कोर्स करने के बाद आप शिक्षक बनने के योग्य हो जाते हैं और आप इंटरमीडिएट तक के स्कूलों के शिक्षक बन सकते हैं।

इसे भी पढ़े :

RAS क्या है, और RAS फुल फॉर्म क्या होता है।

SSC क्या है, और SSC का फुल फॉर्म क्या होता है।

निष्कर्ष –

आज के हिंदी वर्ल्ड के इस लेख में हम लोगों ने बी.एड कोर्स के फुल फॉर्म (B.Ed Full Form) क्या होता है और B.Ed कोर्स कैसे करते हैं इन सभी सवालों के जवाब के बारे में जाना है तो ऐसे में हम उम्मीद कर सकते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको B.Ed कोर्स से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी मिल गया होगा। धन्यवाद

Leave a Comment