AM and PM Full Form | AM और PM फुल फॉर्म क्या होता है, और इसका इतिहास

AM full form Hindi | AM Full Form | एम का फुल फॉर्म | AM and PM Kya Hai | Full Form of AM | Full Form of PM| AM and PM क्या है | PM full form Hindi | PM Full Form | AM and PM Full Form | पीएम का फुल फॉर्म

AM and PM Full Form: आज के जमाने में समय का बहुत ही ज्यादा महत्व है लोग अपने समय के अनुसार ही अपने सारे कार्यों को पूर्ण करते हैं और यदि लोगों को समय का सही अंदाजा ना हो तो वह अपने कार्य समय पर पूर्ण नहीं कर पाते हैं जैसा कि अगर आपके हाथ में से घड़ी ले ली जाए या फिर आपको समय देखने का कोई मौका ना दिया जाए तो शायद ही आप अपने कार्य को उस समय पर पूर्ण कर पाएंगे जो समय आपको दिया गया था लेकिन आप भी समय देखने के लिए AM और PM शब्द का इस्तेमाल करते होंगे।

क्योंकि यह दोनों ऐसे शब्द है जिनकी मदद से आप पूर्ण रुप से जानकारी प्राप्त कर पाएंगे कि क्या समय हो रहा है? लेकिन आप में से बहुत कम लोग ही यह जानते होंगे कि AM और PM का फुल फॉर्म क्या होता है? क्योंकि शायद आपने अब तक AM और PM का फुल फॉर्म जाने की कोशिश ही नहीं करी होगी आज ब्लॉग में हम आपको AM और PM के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

AM और PM फुल फॉर्म – AM and PM Full Form

यदि बात की जाए AM और PM फुल फॉर्म के बारे में तो AM काअंग्रेजी भाषा में फुल फॉर्म Anti Meridiem होता है और जबकि हिंदी में इसका फुल फॉर्म हम पूर्वाह्न होता है। वही PM का Full Form अंग्रेजी भाषा में Post Meridiem होता है जबकि हिंदी में PM का Full Form हिंदी भाषा में अपराहन कहा जाता है।

AM Stands For: Anti Meridiem

A – Anti

M – Meridiem

PM Stands For: Post Meridiem

P – Post

M – Meridiem

AM और PM का महत्व

यदि बात की जाए कि AM और PM शब्द कहां से लिए गए हैं तो यह दोनों जो शब्द है वह लेटिन भाषा से लिए गए हैं और इन दोनों शब्दों का इस्तेमाल घड़ी और मोबाइल में समय को पता लगाने के लिए किया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 12 घंटे वाले फॉर्मेट में AM और PM का इस्तेमाल किया जाता है जबकि 24 घंटे वाले फॉर्मेट में इनका इस्तेमाल नहीं किया जाता।

क्योंकि 12 घंटे वाले फॉर्मेट में दो बार एक से 12 बजते हैं इसमें दोपहर के 12:00 बजे से लेकर रात के 12:00 बजे तक का समय PM कहलाता है और रात के 12:00 बजे से लेकर सुबह के 12:00 बजे तक का समय AM कहलाता है इसलिए इन दोनों शब्दों का अपने आप में एक बड़ा ही महत्व होता है।

AM और PM का इतिहास

अब हमने आपको AM और PM के बारे में तो जानकारी दे दी अब आपको हम AM और PM के इतिहास के बारे में भी बता देते हैं। आपको बता दें कि घड़ी का आविष्कार मनुष्य के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण साबित हुआ था और घड़ी के आविष्कार करने के बाद से हम लोगों को समय देखने में काफी ज्यादा आसानी होने लगी थी।

पहले के जमाने में लोग समय का पता लगाने के लिए सूर्य और चंद्रमा की स्थिति को देखा करते थे। दिन में लोग सूर्य की स्थिति को देखते थे और रात्रि में लोग चंद्रमा और तारों की स्थिति को देखकर समय का पता लगाते थे लेकिन फिर मिस्र के लोगों ने घड़ी का आविष्कार करने का सोचा और उन्होंने 12 को अपना आधार बनाया और उसके बाद एक दिन को 24 बराबर बराबर भागों में बांट दिया।

इस हिसाब से हम कह सकते हैं कि सबसे पहले 12 घंटे वाली प्रणाली का उपयोग मिस्र के लोगों के द्वारा किया गया था उसके बाद जैसे-जैसे वक्त निकलता गया तकनीकी खोजें होती गई और हमें समय देखने में आसानी होती गई और यदि आपने अपने कंप्यूटर या फिर अपने मोबाइल फोन पर समय सेट करने के लिए ऑप्शन दबाया होगा तो आपने वहां पर देखा होगा कि आपको वहां दो विकल्प दिए गए होंगे AM का और PM का। उन दोनों विकल्पों के आधार पर ही आपकी घड़ी कार्य करती है और आपको सटीक समय बताने में आपकी मदद करती है।

इस ब्लॉग में हमने आपको AM और PM से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी देने की कोशिश की है लेकिन फिर भी यदि आपके मन में इससे संबंधित कोई भी सवाल आता है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा दी गई प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे हैं।

इसे भी पढ़े :

CUET Full Form In Hindi – CUET क्या है और परीक्षा की तैयारी कैसे करे

BMW का फुल फॉर्म क्या है – पूरी जानकारी

Leave a Comment